वैर - गॉँव छोड़ने और आत्महत्या करने को मजबूर परिवारजन ने पांच पंचों के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही करने को कराई रिपोर्ट दर्ज - News Desktops

Breaking

Tuesday, September 22, 2020

वैर - गॉँव छोड़ने और आत्महत्या करने को मजबूर परिवारजन ने पांच पंचों के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही करने को कराई रिपोर्ट दर्ज



वैर - जब गॉँव के पांच पंच ही अपने न्याय पर खरे ना उतरे तो गॉँव के लोगों का न्याय कौन करेगा।
ऐसा ही मामला सामने आया है गॉँव नगला खरवेरा में। खाप पंचायत के पंचो द्वारा क्षेत्र के गॉँव नगला खरवेरा में एक परिवार को आत्महत्या और गॉँव छोड़ने को मजबूर किया जा रहा है।



क्या है मामला
प्रार्थी ने पिछले वर्ष एक भूखंड लगभग 5 बिस्वा रामावतार पुत्र सन्तोकी जाटव निवासी नगला खरवेरा से अपनी पत्नी मीना के नाम खरीदा था। जिसकी कीमत 1.50 लाख रु थी पूरी रकम चुकता कर दी थी अब प्रार्थी अपने भूखंड में चारदिवारी कर रहा था तो रामावतार ने झगड़ा करना शुरू कर दिया और भूखंड की ओर अधिक कीमत मांगने लगा और भूखंड पर स्थगन ले लिया और प्रार्थी के बच्चों पर झूठा मुकदमा दर्ज करवाता रहा। प्रार्थी द्वारा पंच पटेलों के समक्ष सारी रकम चुकता करवा दी गई थी। अब पंच पटेल ही प्रार्थी के दुश्मन बने हुये है। प्रार्थी से आये दिन छल कपट और धोकाधडी से रकम मांगते है। गलत तरीके से प्रार्थी से 50,000 रु और एक खाली स्टाम्प पेपर पर हस्ताक्षर करवा लिये और रजिस्ट्री रद्द करने की धमकी देते है 



पंच पटेलों द्वारा ही इस प्रकार की धमकी से परिवारजन सकते में है और गॉँव छोड़ने या फिर आत्महत्या करने को मजबूर है इस घटना के कारण प्रार्थी के परिवारजनों पर खतरा बना रखा है और बालक झूठे मुकदमे के डर से अपने ही घर जाने से कतरा रहे है
करीब तीन दशक पहले इन्ही लोगों ने प्रार्थी के पिता रोशनलाल पुत्र श्री बुद्धाराम को इसी तरह से परेशान कर आत्महत्या को मजबूर किया गया था। 



प्रार्थी द्वारा दीवान पुत्र रघुनाथ, रघुनाथ पुत्र गंगाधररामभरोसी पुत्र नत्थी, हरीसिंह पुत्र बीघा, प्रताप पुत्र मनोहरी, राजेंद्र पुत्र दुल्हेराम, अमर पुत्र हरफूल, राकेश पुत्र अमर, रामावतार पुत्र संतोकी, कारे पुत्र गिरधारी, राजराजा पुत्र बीघा, महेश पुत्र नत्थी बंटी पुत्र रामभरोसी, राजेन्द्र पुत्र सोहनलाल, धर्मसिंह पुत्र कलुआ निवासी आजाद पुरा, बीरबल पुत्र गिलहरी, श्याम सिंह पुत्र हरपाल, सूरज पुत्र सोहनपाल, शिवचरण पुत्र चमरु, नगला का पचोरा, 


श्याम सिंह पुत्र रामबली, रमेश पुत्र महाराज सिंह, रामकिशन पुत्र कलुआ नाई, निवासी खरवेरा तथा हरीचरण कॉन्स्टेबल कार्यरत थाना वैर आदि लोगों द्वारा नाजायज गिरोह बनाने का आरोप लगा है उक्त लोगों द्वारा हमेशा जानमाल व मॉब लिचिन्ग का डर बना रहता है और प्रार्थी की बेटियों को उक्त गिरोह के लोगों द्वारा टोटिण्ग करना व टॉर्चर किया जाता है प्रार्थी के घरवालो की इन लोगों द्वारा जम कर पिटाई की गई जिसके कारण उनके हाथ पैरों में गंभीर चोटें और फेक्चर आया है जिसकी छानबीन भुसावर सीओ कर रहे है प्रार्थी को और परिवारजनों को जानमाल का खतरा होने का जिम्मेदार उक्त गिरोह को समझा जाए। 

No comments:

Post a Comment