भरतपुर - विश्व आदिवासी दिवस अवकाश घोषित करने पर रास्ट्रीय मीणा महासभा ने सरकार का जताया आभार, पीपल्दा विधायक रामनारायण मीना को दी जन्म दिवस की शुभकामनाएं - News Desktops

Breaking

Friday, July 31, 2020

भरतपुर - विश्व आदिवासी दिवस अवकाश घोषित करने पर रास्ट्रीय मीणा महासभा ने सरकार का जताया आभार, पीपल्दा विधायक रामनारायण मीना को दी जन्म दिवस की शुभकामनाएं



भरतपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विश्व आदिवासी दिवस के उपलक्ष में आगामी 9 अगस्त को संपूर्ण राजस्थान में सार्वजनिक अवकाश घोषित करने का निर्णय लिया है श्री गहलोत ने आदिवासी समाज के जनप्रतिनिधियों की काफी लंबे समय से चली आ रही मांग पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। 

उल्लेखनीय है कि 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस पर राजस्थान के विभिन्न अंचलों में रहने वाले आदिवासी लोग धार्मिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं आदिवासी समाज के लोग इस दिन को आदिवासी परंपराओं और रीति-रिवाजों के उत्सव के रूप में मनाते हुए अपने देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करते हैं तथा सामाजिक उत्सव के रूप में सामूहिक रूप से खुशियों का इजहार करते हैं वर्तमान में राज्य सरकार की ओर से आदिवासी दिवस के अवसर पर ऐच्छिक अवकाश घोषित है मुख्यमंत्री को राजस्थान के रास्ट्रीय मीणा महासभा व विभिन्न आदिवासी संगठनों के पदाधिकारियों सहित सरकार में  आदिवासी विधायकों ने समय-समय पर इसकी मांग की थी विधायक राम नारायण,महेंद्र सिंह मालवीया ,दयाराम परमार, लाखन सिंह कटकड रमिला खड़िया , गोपाल मीणा निर्मल सहरिया, लक्ष्मण मीणा, राजकुमार रोत रामप्रसाद, शगणेश घोघरा, ,कांति प्रसाद रामलाल मीणा इंदिरा मीणा जौहरी लाल मीणा सहित आदिवासी समाज के अन्य जनप्रतिनिधियों ने इस दिन संपूर्ण राजस्थान में  ऐच्छिक  अवकाश के स्थान पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने की मांग की थी, आज पीपल्दा विधायक रामनारायण मीणा जी का जन्मदिन धूमधाम से मनाया गया इस अवसर पर बोलते हुए पूर्व जिला अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह मीणा ने बताया कि गहलोत सरकार ने आदिवासी समाज के जनप्रतिनिधियों एवं विभिन्न संगठनों की मांग को स्वीकार करते हुए विश्व आदिवासी दिवस के उपलक्ष में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है इसका हम आभार व्यक्त करते हैं विभिन्न समूह द्वारा रामनारायण मीणा को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी।इस अवसर पर रास्ट्रीय मीणा महासभा के बिभिन्न पदाधिकारी मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment