भरतपुर - विद्यार्थियों की पढ़ाई का न हो नुकसान इसलिए विवि करा रहा है ऑनलाइन कंटेंट उपलब्ध - News Desktops

Breaking

Tuesday, April 14, 2020

भरतपुर - विद्यार्थियों की पढ़ाई का न हो नुकसान इसलिए विवि करा रहा है ऑनलाइन कंटेंट उपलब्ध



भरतपुर। देशभर में चल रहे लॉक डाउन से उद्योगधंधे से लेकर आमजन का जीवन तक प्रभावित हो रहा है। ऐसे में देश के भविष्य विद्यार्थियों की पढ़ाई पर कोई विपरीत असर नहीं पड़े, इसको लेकर शिक्षण संस्थान भी सतर्क हैं। लॉक डाउन से विश्वविद्यालय की परीक्षा और कक्षाएं पहले ही स्थगित बनी हुई हैं। विद्यार्थियों के पढ़ाई के नुकसान को बचाने के लिए महाराजा सूरजमलउ बृज विश्वविद्यालय इन नई पहल शुरू की है। विवि अपने कैम्पस के विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन कंटेंट उपलब्ध करवा रहा है। विवि ने परिसर में संचालित सभी पांच पाठ्यक्रमों के लिए यह सुविधा दी है। संभवतय प्रदेश में यह पहला विवि होगा, जिसने यह शुरुआत की है। इसके अलावा विद्याार्थियों को कंटेंट डाउनलोड करने में कोई दिक्कत नहीं हो इसके लिए विवि प्रशासन की ओर से कैम्पस के छात्र-छात्राओं का नेट के लिए फ्री रिचार्ज भी करा रहा है।

बृज विवि में वर्तमान में पांच पाठ्यक्रम संचालित हैं। इनमें बीएएलएलबी, एलएलएम, एमए (होम साइंस) ड्रॉइंग एंड पेंटिंग एवं गणित शामिल हैं। इन सभी पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं मई और जून के माह में आयोजित होती हैं। लेकिन इस बार लॉक डाउनu के चलते गत माह विवि को बंद कर दिया था। इस वजह से विद्यार्थियों की कक्षाएं भी प्रभावित हुई हैं। विद्याार्थियों की पढ़ाई बाधित नहीं हो इसको देखते हुए सभी पाठ्यक्रमों के विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन नोट्स अपलोड किए गए हैं। जहां से विद्यार्थी यह नोट्स डाउनलोड कर अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं। साथ ही विद्यार्थियों के व्हाट्स गु्रप पर भी यह लिंक शेयर किए जा रहे हैं जहां से विद्यार्थियों को डाउनलोड कर सकते हैं।

विद्यार्थियों के कराएंगे फ्री रिचार्ज
विवि के सहायक कुलसचिव प्रशांत कुमार ने बताया कि विद्यार्थियों को ऑनलाइन नोट्स डाउनलोड करने में कोई समस्या ना हो इसके लिए विश्वविद्यालय सभी विद्यार्थियों के जल्द ही फ्री मोबाइल रिचार्ज भी कराएगा। इसके तहत विद्यार्थी हर दिन अपने मोबाइल से 1.50 जीबी तक के नोट्स डाउनलोड कर सकेंगे। द्वितीय चरण में विश्वविद्यालय के पीएचडी छात्रों के लिए भी फ्री रिचार्ज की सुविधा शुरू की जाएगी।

ऐसे तैयार कर रहे ऑनलाइन नोट्स
विवि के अनुसार विषय के अनुसार संबंधित फैकल्टी को घर पर ही नोट्स तैयार करने के निर्देश दिए हैं। ऐसे में फैकल्टी घरy पर ही टेक्स्ट नोट्स तैयार कर उसकी पीडीएफ फाइल बनाकर विवि की वेबसाइट पर अपलोडh कर रहे हैं। साथ ही सिलेबस के अनुसार वीडियो लिंक भी अपलोड किए जा रहे हैं।

कुलपति ने राज्यपाल को भी दी जानकारी
उधर, प्रदेश के राज्यपाल ने भी विवि के कुलपतियों से भी शिक्षण कार्य की जानकारी ली। उन्होंने विद्यार्थियों को ऑनलाइन मैटर उपलब्ध कराने की बात कही। जिस पर महाराजा सूरजमल बृज विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.आरके धाकरे ने विवि में आनलाइन सुविधा शुरू कराने के प्रयासों से उन्हें अवगत कराया है। प्रदेश में सरकारी विश्वविद्यालयों की संख्या 22 है। उधर, विवि के उप कुलसचिव डॉ.अरुण कुमार पाण्डेय ने बताया कि लॉक डाउन के चलते विद्यार्थियों की अकादमिक क्षति को कम करने के उद्देश्य से बृज विवि ने कुलपति के निर्देश पर विवि परिसर में संचालित सभी 5 पाठ्यक्रमों के विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन ई-कंटेंट उपलब्ध कराने के लिए यह सुविधा शुरू की है। इससे विद्यार्थियों को काफी लाभ मिलेगा।

No comments:

Post a Comment