भरतपुर - लॉक डाउन में फंसी स्वीडन महिला को क्लीनचिट - News Desktops

Breaking

Tuesday, April 14, 2020

भरतपुर - लॉक डाउन में फंसी स्वीडन महिला को क्लीनचिट



भरतपुर। लॉक डाउन में फंसी स्वीडन निवासी महिला को आखिरकार केन्द्र सरकार से अपने देश जाने की स्वीकृति मिल गई। वह शहर के अछनेरा रोड स्थित लक्ष्मी विलास होटल में 31 दिन से रह रही थी। जनता कफ्र्यू के बाद देशभर में हुए लॉक डाउन की वजह से वह दिल्ली रवाना नहीं हो पाई और इस बीच अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगाने के बाद से वह भरतपुर में बनी हुई है।
होटल मालिक दीपराज ने स्वीडन निवासी सोफिया लेवेंडर हर साल विदेश से भारत टूर लेकर आती हैं और इस दौरान वह अलग-अलग स्थानों पर टूर लेकर जाती हैं। वह लॉक डाउन से पहले भरतपुर आकर उनके होटल में ठहरी हुई थी। उनकी 25 मार्च फ्लाइट थी लेकिन इस बीच लॉक डाउन लागू होने से वह दिल्ली नहीं निकल पाई। कोरोना वायरस के प्रभाव को रोकने के लिए केन्द्र सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा दी। इसके बाद से वह भरतपुर में बनी हुई थी।
इस संबंध में पर्यटन विभाग को सूचना दी गई। वहीं, स्वीडन महिला ने अपने स्तर पर दूतावास से संपर्क साधा, जिस पर फ्लाइट शुरू होने पर भिजवाने की बात कही। सोमवार को सूचना मिली कि विदेश जा रही एक फ्लाइट में उन्हें जाने की सरकार ने अनुमति जारी कर दी है। यह फ्लाइट दिल्ली से सोमवार-मंगलवार रात 2.55 बजे की है। इसके बाद वह दोपहर में भरतपुर से दिल्ली के लिए रवाना हो गई। इसके लिए उन्हें विशेष पास जारी किया गया है।

स्वीडन निवासी महिला ट्यूरिस्ट वीजा पर गत 19 अक्टूबर 2019 को भारत आई थी। इसके बाद वह देश में अलग-अलग स्थानों पर भ्रमण करती रहीं। भरतपुर पहुंचने पर लॉक डाउन में फंसने पर होटल मैनेजर ने इस संबंध में सीआईडी जोन कार्यालय को सूचना दी थी। विदेशी नागरिक की इस कार्यालय को सूचना देनी होती है।

No comments:

Post a Comment