कामां डीग रोड पर एंबुलेंस फंसने की खबर फैलाई थी झूठी-जलीस खान - News Desktops

Breaking

Saturday, March 21, 2020

कामां डीग रोड पर एंबुलेंस फंसने की खबर फैलाई थी झूठी-जलीस खान



कामां कस्बे में गत दिनों कामां डीग रोड पर 108 एंबुलेंस गड्ढे में फस जाने का सोशल मीडिया पर फोटो और समाचार वायरल किया गया था जिसे लेकर कामां पूर्व प्रधान एवम् पीसीसी मेंबर  जलीस खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि कामां कस्बा के कुछ लोग झूठी भ्रांति फैला रहे हैं जबकि चिकित्सा विभाग द्वारा वायरल फोटो और खबर की जांच कर स्पष्ट खुलासा किया गया है कि इस तरीके से जो खबर सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही है वह बिल्कुल झूठी और निराधार है कामां डीग रोड पर कोई मरीज लेकर एंबुलेंस उस दिन नहीं आई थी खाली एंबुलेंस इन्दौली से कामां आ रही थी जिसे राधा स्वामी सत्संग आश्रम के पास कुछ लोगों ने रोककर फोटो खींच लिया जिससे क्षेत्र में झूठी अफवाह और भ्रांति फैलाई गई है।
कामां पंचायत समिति के पूर्व प्रधान एवम् पीसीसी मेम्बर  जलीस खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि कामां क्षेत्र के गांव इन्दौली से गत दिनों एंबुलेंस खाली लौट रही थी जिसे राधा स्वामी सत्संग भवन के पास कुछ अफवाह फैलाने वाले लोगों ने एंबुलेंस को रोककर उसके फोटो खींच लिए जिसके बाद उसे सोशल मीडिया पर और अखबारों में वायरल किया गया जिसमें अवगत कराया गया कि कामां डीग रोड पूर्ण तरीके से क्षतिग्रस्त है जिसमें एंबुलेंस फस गई और किसानों की सहायता से एंबुलेंस को निकाला गया जो कि मरीज लेकर जा रही थी जिसके बाद समाचार पत्रों के माध्यम से भरतपुर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा मामले की जांच कराई गई जिसमें जांच रिपोर्ट में जांच अधिकारी द्वारा खुलासा किया गया है कि जो खबर और फोटो चलाया गया है वह निराधार गलत है और झूठी है इस तरीके से कामां डीग रोड पर एंबुलेंस नहीं फसी नाही कामां डीग रोड की स्थिति ऐसी है जिस पर एंबुलेंस फंस सके कामां डीग रोड क्षतिग्रस्त जरूर है लेकिन उसकी हालत इतनी खराब नहीं कि उस पर एंबुलेंस फंस जाए जबकि वास्तविकता यह है कि एंबुलेंस में कोई भी मरीज नहीं था एंबुलेंस को रोककर जानबूझकर झूठी अफवाह और भ्रांति फैलाने के लिए रोका गया और उसके बाद उसका फोटो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया गया जिससे क्षेत्र के लोगों को गुमराह किया जा सके लेकिन भरतपुर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के निर्देश के बाद आई जांच रिपोर्ट में स्पष्ट खुलासा कर दिया है कि इस तरीके से क्षेत्र में एंबुलेंस फंसने की जो खबर और फोटो वायरल किए गए हैं वह बिल्कुल गलत है एंबुलेंस कोई मरीज लेकर उस दिन नहीं आ रही थी वह बिल्कुल खाली थी और एंबुलेंस किसी गड्ढे में नहीं फंसी थी एंबुलेंस चालक और ईएमटी द्वारा ब्लॉक सीएमएचओ सहित उच्च अधिकारियों को कोई सूचना नहीं दी गई। लोगों ने यह झूठी अफवाह और भ्रांति क्षेत्र में फैलाई है। जिसका जांच रिपोर्ट में स्पष्ट खुलासा किया गया साथ ही पूर्व प्रधान एवम् पीसीसी  सदस्य जलीस खान ने कहा कि विधायक जाहिदा खान सहित कांग्रेस सरकार क्षेत्र के विकास के लिए हमेशा तत्पर है किसी भी तरीके से क्षेत्र के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी क्षेत्र के लोग ऐसे अफवाह फैलाने वाले लोगों की बातों में ना आए यह लोग निराधार और झूठी प्रांतिक फैलाने में माहिर हैं कुछ तथाकथित लोग व्हाट्सएप ग्रुपओं के माध्यम से झूठी अफवाह फैला रहे हैं जिनके बारे में क्षेत्र के लोग अच्छे से जानते हैं।

No comments:

Post a Comment