कामां - भारत देश एक उदारवादी देश है उग्रवादी देश नहीं: डॉक्टर ताहिर हुसैन - News Desktops

Breaking

Friday, January 10, 2020

कामां - भारत देश एक उदारवादी देश है उग्रवादी देश नहीं: डॉक्टर ताहिर हुसैन



कामां में बृज आदर्श विकास समिति द्वारा CAA कानून के समर्थन को लेकर आयोजित गोष्ठी समारोह जिसमें जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के कोर्ट मेंबर एवं मानव संसाधन मंत्रालय के सदस्य डॉक्टर ताहिर हुसैन की मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुई जहां डॉक्टर साहब ने भारत देश के नए कानून CAA के समर्थन को लेकर ब्रज मेवात क्षेत्र के अल्पसंख्यक समुदाय को विशेषकर संबोधित करते हुए कहा यह कानून भारत सरकार ने नागरिकता देने के लिए बनाया है ना की किसी के अधिकार छीनने के लिए
भारत देश एक धर्मनिरपेक्ष देश है और यह कानून हमारे पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान बांग्लादेश अफगानिस्तान में रह रहे प्रताड़ित अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को हमारे मुल्क हिंदुस्तान में पनाह देकर उनको यहां की नागरिकता देकर अपने साथ बराबरी का अधिकार देने के लिए है।
विपक्षी राजनीतिक दल मार्क्सवादी कांग्रेस वामपंथी आदि विशेषकर मुस्लिम समुदाय में जो भ्रम फैला रहे हैं कि यह मोदी सरकार या भारत सरकार आज मुसलमानों की यहां जीने नहीं देगी या रहने नहीं देगी जो इस कानून का आधार ही नहीं है, डॉक्टर ताहिर ने कहा यह गोष्ठी यहां आए प्रबुद्ध जनों की ही जिम्मेदारी है हिंदुस्तान में रह रहे चाहे वह किसी भी समुदाय या किसी जाति से हो सभी तक पहुंचकर उनके भ्रम को मिटाएं और देश के नए कानून के बारे में उचित जानकारी दें जिससे विशेषकर मुस्लिम समुदाय में जो भ्रम है वह हकीकत जाने और किसी भी राजनेता के चक्कर में आकर गलत भ्रांति के शिकार ना हो
विजय मती स्वाध्याय भवन मैं आयोजित इस गोष्ठी की अध्यक्षता श्री उमाशंकर शर्मा  एवं विशिष्ट अतिथि हुकम यादव, मोंटू वकील के सानिध्य में संपन्न हुई
इस अवसर पर रमन आर्य, अली हुसैन ,शाकिर, निहाल मीणा, डॉ मदन गुप्ता ,पवन गुलाटी ,उत्तम जैन हजारीलाल आर्य , धर्मवीर वकील, प्रदीप गोयल, रवि तिवारी ,प्रेमचंद कोली सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment