भरतपुर - पोस्को न्यायालय -2 में, अपहरण व बलात्कार के आरोपी को 10 साल की सजा - News Desktops

Breaking

Thursday, January 9, 2020

भरतपुर - पोस्को न्यायालय -2 में, अपहरण व बलात्कार के आरोपी को 10 साल की सजा



भरतपुर। जिले की पॉस्को कोर्ट संख्या दो अपराधों से संरक्षण अधिनियम 2012 एवं बालकों का संरक्षण अधिनियम 2005 के विशेष न्यायाधीश गजेंद्र पाल सिंहमोगा ने नाबालिग के अपहरण व बलात्कार के मामले में आरोपी को 10 साल की सजा ₹25000 के जुर्माने से दंडित किया है। 
दो अन्य आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया है। 
विशिष्ट लोक अभियोजक महाराज सिंह सिसिनवार ने बताया कि एक व्यक्ति ने थाना उद्योग नगर में गत 5 जून 2013 को रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 
इसमें बताया कि 4 जून को उसकी नाबालिग पुत्री गांव से शहर के अग्रसेन कॉलेज में प्रायोगिक परीक्षा देने गई थी, उसके बाद वह घर नहीं लौटी परिजनों ने तलाश किया लेकिन कोई पता नहीं चला जिस पर पिता ने आरोपी दरब सिंह उर्फ देव निवासी महंगाया व गीता पर उसकी पुत्री को बहला-फुसलाकर ले जाने का आरोप लगाते रिपोर्ट दर्ज कराई। 
इसमें अन्य लोग भी नामजद थे। पुलिस ने मामले की छानबीन की और नाबालिक लड़की को दस्तयाब कर आरोपी दरब सिंह और देव, भूरी आधिया खुर्द पेगोर थाना कुम्हेर व सुरेश निवासी कबई के खिलाफ चालान पेश किया। 
कोर्ट में मामले में निर्णय सुनाते हुए आरोपी दरब सिंह को भारतीय दंड संहिता की धारा 367 में 5 साल और 5000 का जुर्माना भारतीय दंड संहिता 366 मैं 7 साल और 10000 जुर्माना एवं भारतीय दंड संहिता धारा 376 में 10 साल की सजा व ₹25000 के जुर्माने से दंडित किया है। 
न्यायाधीश ने इस मामले में दो आरोपी भूरी व सुरेश को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया है।।

No comments:

Post a Comment