नदबई - बसपा विधायक जोगिंदर सिंह अवाना ने स्वर्गीय श्री राजा मानसिंह जी के बारे में ऐसा क्या कहा कि जाट नेता करने लगे विरोध - News Desktops

Breaking

Wednesday, August 21, 2019

नदबई - बसपा विधायक जोगिंदर सिंह अवाना ने स्वर्गीय श्री राजा मानसिंह जी के बारे में ऐसा क्या कहा कि जाट नेता करने लगे विरोध

                           



नदबई। भरतपुर में नदबई विधानसभा से बसपा विधायक जोगेंद्र सिंह अवाना द्वारा भरतपुर राजवंश के राजा के खिलाफ की गयी टिप्पणी के विरोध का स्वर तेज हो चुका है और जाट नेताओं ने फर्मान जारी कर दिया है की विधानसभा के किसी भी गाँव में विधायक को घुसने नहीं दिया जाए।
यदि विधायक किसी भी गाँव में घुसता है तो उसका विरोध किया जाए।
नदबई से बसपा विधायक जोगेंद्र सिंह अवाना ने विगत दिनों गुर्जर समाज की एक सभा में अपना भाषण दिया था। की में 300 किलोमीटर दूर नॉएडा से यहाँ आकर चुनाव जीता हूँ तो अपनी मेहनत और आपके सहयोग से जबकि 31 वर्षों से विधानसभा में रही और यहाँ से लगातार तीन बार विधायक व् राजा मान सिंह की पुत्री कृष्णेन्द्र कौर दीपा को मेने अपनी मेहनत से चुनाव हराया है।
नदबई विधानसभा में मात्रा 17 हजार गुर्जर मतदाता है लेकिन मेने दिन रात मेहनत की और आप जानते है की केवल आपकी हिम्मत और हौंसलो के ऊपर में 300 किलोमीटर चलके यहाँ भरतपुर आया था।
और मेने जिनको हराया वह राजा मान सिंह की बेटी है।
में यहाँ आया हूँ तो केवल अपनी विरादरी के ऊपर आया हूँ।
दरअशल नदबई विधानसभा जाट वाहुल्य है जहाँ करीब 2 लाख 60 हजार मतदाता है जिनमे सबसे अधिक और निर्णायक मतदाता करीब 1 लाख 60 हजार जाट समुदाय के है।
जहाँ से हमेशा ही जाट समाज का व्यक्ति चुनाव जीतता रहा है।
और यहाँ से राजपरिवार के राजा मान सिंह की पुत्री कृष्णेन्द्र कौर दीपा लगातार तीन बार विधायक रही व् सांसद भी रही।
जहाँ से एक बार विश्वेन्द्र सिंह भी विधायक रहे जो फिलहाल राज्य की कांग्रेस सरकार में पर्यटन मंत्री है।
विगत 2018 के विधानसभा चुनावों में भाजपा विधायक कृष्णेन्द्र कौर दीपा के प्रति लोगों में काफी नाराजगी व्याप्त थी।
और उनके सामने कई जाट नेता चुनाव लड़ गए थे।
जिससे बसपा के टिकट पर जोगेंद्र सिंह अवाना यहाँ से चुनाव जीत गए थे जबकि अवाना गुर्जर समुदाय से ताल्लुक रखते है।
जहाँ इस विधानसभा में गुर्जर समुदाय के मतदाता महज 17 हजार है। लेकिन जाटों की लड़ाई में बसपा ने यहाँ से अपनी जीत दर्ज कराई थी।
विधायक द्वारा की गयी इस टिप्पणी के बाद जाट समाज में रोष व्याप्त हो गया है और विधायक की यह स्पीच इन दिनों स्थानीय सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है।
जिसके चलते आज जाट नेताओं ने भी विधायक के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।
और उसे किसी भी गाँव में नहीं घुसने की चेतावनी भी दे दी है।
साथ ही विधानसभा के सभी गाँव में अपील भिजवाई है की विधायक को किसी भी गाँव में नहीं घुसने दिया जाए।

No comments:

Post a Comment