भरतपुर - क्षेत्र में विकास कार्य और एतिहासिक धरोहर के जीर्णोधार के लिए १२.५० करोड़ की राशि स्वीकृत - मंत्री विश्वेन्द्र सिंह - News Desktops

Breaking

Tuesday, July 30, 2019

भरतपुर - क्षेत्र में विकास कार्य और एतिहासिक धरोहर के जीर्णोधार के लिए १२.५० करोड़ की राशि स्वीकृत - मंत्री विश्वेन्द्र सिंह


www.aapnobharatpur.com



इससे पहले डीग-कुम्हेर विधानसभा क्षेत्र में नई सडकों के निर्माण तथा क्षतिग्रस्त सडकों की मरम्मत के सम्बन्ध में पर्यटन और देवस्थान मंत्री श्री विश्वेन्द्र सिंह ने  स्वीकृति दिलाई थी

भरतपुर - जिले में एक सोगात पर्यटन और देवस्थान मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने जिले में पर्यटन को देखते हुए एतिहासिक धरोहरों की सार सम्भाल और निर्माण के लिए बेहतर प्रयास किये है और मंत्री बनने पर पहली बार भरतपुर आने पर जो आश्वासन दिया उस वादे पर पूर्णतया खरे उतरे है
इससे पहले डीग-कुम्हेर विधानसभा क्षेत्र में नई सडकों के निर्माण तथा क्षतिग्रस्त सडकों की मरम्मत के सम्बन्ध में पर्यटन और देवस्थान मंत्री श्री विश्वेन्द्र सिंह ने  स्वीकृति दिलाई थी
राज्य सरकार ने डीग में साढ़े पांच करोड़ तथा कुम्हेर में ढाई करोड़ रूपए की लागत से एतिहासिक धरोहरों की सार सम्भाल के लिए कार्य करवाने का निर्णय लिया गया है तथा बजट जारी कर दिया है
पर्यटन निर्माण कार्य के लिए 12.50 करोड़ की राशि स्वीकृति 
कुम्हेर में पेंघोर में स्तिथ चामुंडा माता मंदिर व आस पास के पर्यटन सुविधाओ के विकास के लिए 4 करोड़ रूपए तथा भरतपुर शहर में लोहागढ़ किले में लाइट एंड साउंड सिस्टम के लिए ढाई करोड़ रूपए की वित्तीय राशि स्वीकृत की गयी है| इनमे से वित्तीय चालू वर्ष में 2 करोड़ की स्वीकृति मिली है| मंत्री विश्वेन्द्र ने बताया की पेंघोर में कुम्हेर-सोंख, पूंछरी-गोवर्धन, और मथुरा-वृन्दावन मार्गो पर प्रवेश द्वारो के निर्माण के लिए 66 लाख रूपए, चामुंडा माता मंदिर के गुम्बद के लिए 72 लाख रुपए, चामुंडा माता मंदिर की 1.3 किमी. लम्बी चार दीवारी निर्माण के लिए 75 लाख रूपए, चार दीवारी के भीतर परिक्रमा पथ के लिए 58 लाख रूपय, 3 यात्रिका(धर्मशाला की तरह) के लिए 62 लाख रूपए, श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु 3 स्थानों पर टॉयलेट निर्माण के लिए 18 लाख रूपए, 50-60 बेंचो के लिए 7 लाख रूपए, पार्किंग व्यवस्था के लिए 7 लाख रूपए पानी की व्यवस्था के लिए डीप बोर और टंकी के लिए 16 लाख रूपए तथा 40x40 फीट के स्टेज एवं ग्रीन रूम के लिए 18 लाख रूपए खर्च होंगे|
मंत्री विश्वेन्द्र के अनुसार कुम्हेर में कुम्हेर किले के विकास हेतु 2.50 करोड़ रपे की राशि स्वीकृत हुई है| जिसमे किले के चारो ओर लेंड स्केपिंग का कार्य, जीर्णोधार का कार्य, वृक्षारोपण, बागीचा, पर्यटन सुविधा, राजकीय विद्यालय से महल तक का मार्ग निर्माण, लाइटिंग व्यवस्था, बेंचो की सुविधा, पक्का तालाब जीर्णोधार, फव्वारों का संचालन, प्राचीन तोप प्रदर्शन स्थल का निर्माण और पर्यटकों के लिए पेयजल की व्यवस्था शामिल है
  मंत्री विश्वेन्द्र के अनुसार डीग के लक्ष्मण मंदिर जीर्णोद्धार के लिए 30 लाख रूपए, डीग शहर में डीग-भरतपुर मार्ग, अलवर-नगर मार्ग, गोवर्धन मार्ग और कामां मार्ग पर प्रवेश द्वार के लिए 1 करोड़ रूपए, डीग किले में मोटवाल कार्य के लिए 1 करोड़ रूपए व्यय होंगे| मोटवाल कार्य में खाई की दीवार का निर्माण व 3 फीट ऊँचे लोहे के ग्रिल का निर्माण कार्य शामिल है| 50 लाख रूपए की लगत से डीग महल के चारो और सोंदर्य करण होगा| इसमें सड़क के साथ इंटरलॉकिंग टाइल लगाकर फुटपाथ का निर्माणकरवाया जाना प्रस्तावित है| रूपसागर कुण्ड का जीर्णोधार 1 करोड़ 20 लाख रूपए की लगत से होगा| जवाहर प्रदर्शनी मेला मैदान के लिए 1.50 करोड़ रूपए में विकास कार्य होगा| इस मेला मैदान में 15 दिन के लिए श्रावण और भाद्रपद मास में मेले का आयोजन किया जाता है



No comments:

Post a Comment