बयाना- नाबालिक द्वारा एसबीआई बैंक से शनिवार को पांच लाख रूपया पार - News Desktops

Breaking

Monday, June 3, 2019

बयाना- नाबालिक द्वारा एसबीआई बैंक से शनिवार को पांच लाख रूपया पार

www.apnobharatpur.com



बयाना। आर्य समाज रोड स्थित एसबीआई बैंक शाखा में चौंकाने वाली घटना सामने आई है। 
बैंक से एक 14 वर्षीय बालक कैशियर के काउंटर के पीछे जाकर 5 लाख रुपए के बंडल को पार कर ले गया। 24 घंटे तक कैश व वाउचरों के बार-बार मिलान, चेस्ट में नकदी मिलान नहीं होने के बाद सीसीटीवी फुटेज देखे। जिसमें एक बालक के काउंटर के पीछे जाकर 500 के नोटों का बंडल उठाता दिखने के बाद रविवार की शाम को उच्चाधिकारियों के निर्देश के बाद बैंक के मुख्य प्रबंधक की ओर से थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई। 

घटना शनिवार दोपहर 12 बजे की है, लेकिन राशि कम होने का पता शाम 4 बजे बाद तब लगा जब कैशियर ने लेन-देन का समय बंद हो जाने के बाद अपने कैश का मिलान किया। लेकिन जब कैश का मिलान नहीं हुआ तो बैंक में हडकंप मच गया। 

बयाना कस्बे के आर्य समाज रोड स्थित एसबीआई की घटना, कैश व बाउचरों का मिलान नहीं होने पर पता चला  
उधर, बालक के बैंक परिसर में अंदर घुसकर कैशियर के काउंटर के पीछे तक पहुंच जाने व वहां से बंडल उठा ले जाने की घटना से बैंक की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सवालिया निशान खड़े हो गए हैं। बैंक के मुख्य प्रबंधक रघुवीर मीना ने बताया कि शनिवार को बैंक में कैश काउंटर पर नियुक्त कैशियर बृजेश कुमार मीना ने जब शाम 4 बजे लेन-देन बंद होने पर अपना कैश मिलाया तो उसमें पांच लाख रुपए कम मिले। पांच लाख रुपए कम मिलने पर बैंक कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। सभी कर्मचारियों ने बार-बार कैश मिलाया तथा कैश वाउचर्स का भी मिलान किया। कर्मचारियों ने बैंक की चेस्ट में भी जाकर मिलान किया लेकिन तब भी पांच लाख रुपए कम पाए गए। इसके बाद कर्मचारियों ने सीसीटीवी फुटेज देखे तो दोपहर करीब 12 बजे सीसीटीवी कैमरों में कैशियर बृजेश कुमार की खिड़की के पीछे पीले रंग की शर्ट पहने एक 14 वर्षीय बालक दिखाई दिया जो चुपके से काउंटर के पीछे रखे 5 लाख रुपए के 500 के नोटों के एक बंडल को अपनी शर्ट में छुपाकर ले जाता नजर आया। 

बढ़ सकती है बैंक प्रबंधन की मुश्किल 

घटना के बाद से बैंक की सुरक्षा व्यवस्था की पोल साफ खुलती दिख रही है। क्योंकि बैंक के गेट व अंदर गार्ड तैनात रहते हैं। ऐसे में कोई बालक सबकी नजरों से बच कर आखिर कैश काउंटर तक कैसे पहुंच गया? क्योंकि काउंटर के पीछे तक जाने में पूरा बैंक परिसर क्रॉस करना पड़ता है और वहीं से चेस्ट रुम की तरफ का रास्ता भी है। घटना में बैंक सुरक्षा गार्डों सहित संबंधित जिम्मेदार कार्मिकों पर गाज गिर सकती है।

No comments:

Post a Comment