समझौते की पालना नहीं की तो होगा आंदोलन : बैसला - News Desktops

Breaking

Thursday, May 16, 2019

समझौते की पालना नहीं की तो होगा आंदोलन : बैसला



मलारना डूंगर। पंचायत मकसूदनपुरा के देवनारायण मंदिर पर फरवरी माह में गुर्जर समाज ने विशाल सभा का आयोजन करके दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग के मलारना एवं निमोदा स्टेशन के मध्य रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया था। सप्ताह भर आंदोलन चलने के बाद सरकार एवं गुर्जर समाज में लिखित में समझौता हुआ था। उस समझौते की पालना नहीं होने के कारण गुर्जर समाज में रोष है और अब फिर से आंदोलन करने की सोच रहा है। 

गुर्जर आंदोलन के दरमियान सरकार एवं गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के मध्य हुए समझौतों पर सरकार किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। इसे लेकर गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक एवं अन्य पदाधिकारियों ने 10 मई को गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति की हिंडौन सिटी में बैठक बुलाई तथा बैठक में निर्णय लिया गया कि 15 दिन में सरकार द्वारा समझौते की पालना नहीं की गई तो गुर्जर समाज आंदोलन करेगा। इसे लेकर कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला समाज कार्यकर्ताओं के साथ सवाई माधोपुर जिले के गुर्जर समाज के गांवों का दौरा कर रहे हैं। सोमवार को शेरपुर, कुंडेरा, बडोलास, रईथा, मैनपुरा, भदलाव की झोपड़ी, ओलवाड़ा, बिलोली, दौनायचा, कोथाली, श्यामोली, मकसूदनपुरा, चौहानपुरा सहित अन्य कई गांवों का दौरा किया गया। दौरे के दौरान गुर्जर समाज के युवाओं में सरकार के प्रति आक्रोश देखने को मिला। 

सरकार पर फिर से छलावा करने का आरोप : कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला ने समाज के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ने हमारे साथ फिर से छलावा किया है। सरकार के 3 मंत्रियों के हस्ताक्षरशुदा पत्र, जो गुर्जर समाज को दिया था उस पर लिखे किसी भी बिंदु पर सरकार की ओर किसी प्रकार की क्रियान्विति होती दिखाई नहीं दे रही है। अब 15 दिन बाद गुर्जर समाज फिर से आंदोलन के लिए तैयार रहें। हर हालत में गुर्जर समाज अपना हक लेकर रहेगा। इस दौरान उनके साथ गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के प्रदेश उपाध्यक्ष से भूरा भगत बयाना आदि शामिल थे।

No comments:

Post a Comment