बयाना - भर्तियों में चार प्रतिशत रिजर्व पदों पर नियुक्तियों की मांग को लेकर धरना पर बैठे गुर्जर समाज के युवा - News Desktops

Breaking

Monday, May 20, 2019

बयाना - भर्तियों में चार प्रतिशत रिजर्व पदों पर नियुक्तियों की मांग को लेकर धरना पर बैठे गुर्जर समाज के युवा

https://www.apnobharatpur.com/


बयाना। गुर्जर आरक्षण की मांग को लेकर जहां कर्नल किरोड़ीसिंह बैंसला एक बार फिर से उग्र नजर आ रहे हैं। वहीं सोमवार की शाम से समाज के बेरोजगार युवाओं ने बयाना-हिण्डौन हाइवे स्थित पीलूपुरा कारबारी स्मारक स्थल पर अनिश्चितकालीन धरना शुरु कर दिया है। वहीं गुर्जर नेता हिम्मतसिंह पाड़ली, दीवान शेरगढ़ आदि ने भी धरना दे रहे बेरोजगार युवाओं का समर्थन किया है। संभवत: मंगलवार से गुर्जर नेता धरना स्थल पर पहुंच कर आंदोलन की हवा बना सकते हैं। धरना शुरु करने वाले समाज के बेरोजगार युवाओं ने सरकार से समझौता वार्ता के मुताबिक रीट परीक्षा, नर्सिंग भर्ती सहित अन्य भर्तियों में शेष रहे चार प्रतिशत रिजर्व सीटों पर छाया पद स्वीकृत कर नौकरी दिए जाने की मांग की। गुर्जर नेता हिम्मतसिंह व दीवान शेरगढ ने कहा कि समाज के युवाओं को पांच प्रतिशत आरक्षण का लाभ नही मिल रहा है। इससे युवाओं में आक्रोश व्याप्त है। 
सरकार की ओर से समझौता वार्ता के बिंदुओं की पालना नहीं की जा रही है। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों मिलने गए गुर्जर प्रतिनिधिमंडल से मामले को देख रहे अफसरों ने आचार संहिता हटने के बाद प्रक्रियाधीन भर्तियों में पांच प्रतिशत आरक्षण का लाभ देने का आश्वासन दिया था, लेकिन आरपीएससी ने संशोधित भर्ती विज्ञापनों में उसकी अनुपालना नहीं की है। जो कि गलत है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि शीघ्र ही सरकार ने सकारात्मक कदम नहीं उठाया तो आरक्षण संघर्ष समिति धरना स्थल पर पहुंच कर व पंच-पटेलों की राय जानकर पीलूपुरा से ही आंदोलन का बिगुल बजाएगी। 
गौरतलब है कि गत दिनों कर्नल बैंसला ने भी सरकार पर वादाखिलाफी के आरोप लगाते हुए आंदोलन की बात कही थी। इससे सरकार में हलचल है।

No comments:

Post a Comment