भरतपुर - गाडिया लुहारों के बच्चों ने किताबों से लोहा लेकर क्लास में आए अव्वल - News Desktops

Breaking

Tuesday, May 7, 2019

भरतपुर - गाडिया लुहारों के बच्चों ने किताबों से लोहा लेकर क्लास में आए अव्वल



भरतपुर - जिनका न घर है और न ही ठिकाना, ऐसा जीवन यापन करने वाले गाडिया लुहारों के बच्चों का पढ़ाई से कोई सरोकार होगा, यह सोचना भी बेमानी है। लेकिन आदर्श विद्या मंदिर में गाडिया लुहारों के बच्चे परीक्षा में टॉप कर साधन संपन्न लोगों के बच्चों को पीछे छोड़ इस मिथक को तोड़ दिया है। गाडिया लुहार सड़कों पर बसेरा करते हैं। उनकी आर्थिक हालत भी काफी खराब है। पीढिय़ों से उनके बच्चे स्कूलों में नहीं पढ़े। लेकिन भरतपुर में उन्हें शिक्षा से जाेड़ने के लिए सेवानिवृत्त बैंक प्रबंधक गोविंद गुप्ता, चुन्नीलाल चावला आदर्श विद्या मंदिर के अध्यापक वीरेंद्र बिष्ट और उनकी प|ी रजनी विष्ट ने पहल की है। उन्होंने पहले स्वच्छ रहने की सीख दी और रणजीत नगर स्थित आदर्श विद्या मंदिर स्कूल में प्रवेश दिलाया। इनमें से 42 बच्चों की फीस, बस्ता, किताब-कॉपी, यूनीफार्म, पानी की बोतल, स्टेशनरी आदि पर जनसहयोग से 4 लाख रुपए खर्च कर चुके हैं, जबकि 6 बच्चों को आरटीई के तहत नि:शुल्क प्रवेश दिलाया। ये बच्चे एलकेजी से कक्षा 7वीं तक के पढ़ने वाले हैं। इनका परिणाम हाल ही में जारी किया गया है। जिसमें इन्हीं गाडिया लुहारों के बच्चों ने साधन-संपन्न परिवारों के बच्चों काे पीछे छेड़कर मुख्यधारा में जुड़े ही नहीं, बल्कि अपनी-अपनी क्लास में पहला, दूसरा व तीसरा स्थान पाया है।

11 बच्चों के लिए खोला छात्रावास

गाडिया लुहारों के छाेटे बच्चों के लिए रणजीत नगर स्थित आदर्श विद्या मंदिर स्कूल की बिल्डिंग में ही ऊपर दो कमरों का छात्रावास भी पिछले साल 15 अगस्त 2018 को खोला है। जिसमें 11 छात्र नि:शुल्क रहते हैं। उनके केयर टेकर वीरेंद्र बिष्ट और उनकी प|ी रजनी विष्ट ही हैं, जो उनके साथ रहते हैं और उन्हें नहाने-धोने से लेकर खाने-पीने तक का ध्यान तो रखते ही हैं साथ ही नियमित पढ़ाते भी हैै। पढ़ाने के लिए इसी स्कूल की पूर्व विद्यार्थी रही बबली व सुमन भी हर रोज दोपहर 3 से 5 बजे तक दो घंटे पढ़ाती हैं। इस छात्रावास में स्टेशन रोड रणजीत नगर मोड़ की गाडिया लुहारों की बस्ती के 3 बच्चे, कुम्हेर गेट चौराहा सरकूलर रोड बस्ती के 3, नई मंडी श्मशान रूंधिया नगर के पास की बस्ती के 3, मानसिंह सर्किल बदनसिंह स्कूल के पास की बस्ती के 1 व काली की बगीची रैगर मोहल्ला का 1 बच्चो होस्टल में रहता है। भरतपुर। गाड़िया लुहारों के बच्चे परिणाम घोषित होने के बाद प्रोग्रेस कार्ड दिखाते हुए। गाडिया लुहारों के बच्चों ने यह सिद्ध कर दिया है कि यदि मेहनतकश बच्चों का सहयोग किया जाए तो वो अपने मुकाम को पा सकते है। उनमें भी अन्य बच्चों की तरह आगे बढ़न की ललक होती है।





भरतपुर। गाड़िया लुहारों के बच्चे परिणाम घोषित होने के बाद प्रोग्रेस कार्ड दिखाते हुए।

कोई इंजीनियर तो कोई एसपी बनने का सपना है संजोये

गाड़िया लुहारों के बच्चों की उड़ान ऊंची है। कोई इंजीनियर तो कोई एसपी बनने का सपना पाले हैं। जहां दीपक, संजय, सनी का पढ़ लिखकर इंजीनियर बनने का लक्ष्य है तो वहीं विनोद, सुनील एसपी बनना चाहते हैं। राजेश गायककार बनना चाहता है।

ये हैं होनहार गाडिया लुहारों के बच्चे, जिन्होंने क्लास टाॅप की

आदर्श विद्या मंदिर रणजीत नगर में कक्षा यूकेजी के 19 बच्चों में दीपक ने पहला स्थान पाया है।

पहली कक्षा के एक के 30 बच्चों में संजय ने दूसरा व सुनील ने तीसरा स्थान पाया है।

कक्षा 2 के 35 बच्चों में विनाेद ने पहला स्थान व राजेश ने दूसरा स्थान पाया है।

कक्षा 3 के 38 बच्चों में राहुल ने पांचवां स्थान पाया है।

कक्षा 4 के 45 बच्चों में पूजा ने तीसरा स्थान व सनी ने 5वां स्थान पाया है।

No comments:

Post a Comment