कामां - 19 वर्ष पहले बिछड़े बेटे को लेने पहुंचे माँ - बाप, बेटे ने जाने से किया इनकार - News Desktops

Breaking

Wednesday, May 8, 2019

कामां - 19 वर्ष पहले बिछड़े बेटे को लेने पहुंचे माँ - बाप, बेटे ने जाने से किया इनकार



कामां मेवात क्षेत्र में वह कहावत चर्चित हो रही है कि जन्म देने वाले से पालने वाला बड़ा होता है, ऐसा ही एक वाक्य कामां मेवात क्षेत्र के गांव सवलाना में देखने को मिला जहां 19 साल पहले परिवार से बिछड़े हुए लड़के को मां-बाप अब लेने आए तो बेटे ने मां बाप के साथ जाने से मना कर दिया और पालन पोषण कर रहे परिवार के साथ ही रहने की इच्छा जताई।

हम आपको बता देते हैं कि कामां थाने के गांव सावलाना में करीब 19 वर्ष पहले एक 5 वर्षीय बालक जिसका नाम वीर सिंह था जो लावारिस हालत में घूमते घूमते गांव सावलाना पहुंच गया। सबलाना में बच्चों के साथ खेलने लग गया उसी गांव के ही शेर मोहम्मद नामक व्यक्ति ने मानवता का परिचय देते हुए लावारिस बालक को देख अपने घर पर रखकर परिवार वालों की काफी तलाश की लेकिन उसके परिवार का कोई भी पता नहीं मिला।  समय के साथ साथ बच्चा परिवार वालों में ही घुल मिल गया और परिवार के साथ ही रहने लग गया जिसके बाद वर्ष 2015 में लावारिस हालत में मिली बालक की शादी भी कर दी जिसके बाद वह गांव में ही परिवार के साथ खुशहाल जिंदगी रहने लग गया लेकिन उसकी खुशहाल जिंदगी में एक दिन ऐसा आया कि उसको लेने के लिए दिल्ली से कुछ लोग उसके घर पहुंच गए। 

युवक ने पालन पोषण करने वाले परिवार के साथ रहने की इच्छा जताई 
उसके बाद वो अपना बिछड़ा हुआ बेटा बताकर उस पर अपना अधिकार जमाने लगे लेकिन लावारिस हालत में मिले उस व्यक्ति द्वारा अपने परिवार के साथ जाने से मना कर दिया। बात यहीं पर नहीं रुकी दिल्ली से आए मां बाप ने कामां के एसीजेएम न्यायालय में अपना बिछड़ा हुआ बेटा बताते हुए सुपुर्दगी के लिए प्रार्थना पत्र लगा दिया। न्यायालय ने बिछड़े हुए युवक के बयानों के बाद बिछड़े हुए युवक को पालन पोषण करने वाले परिवार के साथ रहने की इच्छा जताई और पालन पोषण करने वाले व्यक्तियों को ही अपना मां बाप बताया जिस पर कोर्ट ने उसकी इच्छा के अनुसार गांव सबलाना निवासी शेर मोहम्मद को ही सौंप दिया। 

पूरे मेवात क्षेत्र में एक चर्चा का विषय 
बताया जा रहा है कि शेर मोहम्मद की पहले से ही एक पुत्र है बाद में वीर सिंह नाम के लावारिस हालत में मिले बालक का नाम बदलकर मोहम्मद हुसैन उर्फ सलीम रख दिया गया और वर्ष 2015 में वीर सिंह की शादी भी कर दी। शेर मोहम्मद की पत्नी इस्लामी वीर सिंह को काफी चाहती है और उसे अपना दूसरा पुत्र बताती है शेर मोहम्मद द्वारा भी उसे खूब प्यार और लाड किया जाता है और उसे घर मकान और जमीन में भी अपना हिस्सा दिया है जो अब पूरे मेवात क्षेत्र में एक चर्चा का विषय बना हुआ है और लावारिस हालत में मिले 19 वर्ष पहले उस व्यक्ति को देखने के लिए लोग गांव में भी पहुंच रहे हैं।

कामां से मुस्तकीम खान की रिपोर्ट 

No comments:

Post a Comment