उच्चेन-शिक्षकों की आपसी लड़ाई में विद्यालय का लगाया ताला, ग्रामीणों ने की पंचायत - News Desktops

Breaking

Thursday, January 31, 2019

उच्चेन-शिक्षकों की आपसी लड़ाई में विद्यालय का लगाया ताला, ग्रामीणों ने की पंचायत



हमारे समाज में गुरुओं को उच्च स्थान दिया जाता है ।जहां मान सम्मान की बात आती है तो गुरु के नाम से सब कुछ छोटा लगता है ।
वहीं गुरुओं को समाज का पथ प्रदर्शक कहा जाता है ।
लेकिन जब गुरु ही आपस में झगड़ने लग जाएं तो क्या होगा ?
जब बच्चों को पढ़ाने बाले अध्यापक ही आपस में झगड़ने लगें तो बालकों को कैसी शिक्षा मिलेगी ।

पढ़े - बयाना -पुलिस बयाना ने अवैध रूप से पशुओ को वाहन में भरकर ले जाते दो वाहनो को पकडा है

चलिए अब सुनाते हैं उस विद्यालय की दास्ताँन जहाँ संसार को राह दिखाने बाले एवम् जो बनाते हैं देश के भविष्य निर्माता,  कुरका गांव में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आप जरूर चौंक जाएगें क्यों की यहां विद्यालय में पढ़ाने बाले दो अध्यापकों में झगड़ा इतना बढ़ गया जिसके चलते विद्यालय की छुट्टी तक करनी पड़ गई ।जब मामला शांत नहीं हुआ तो अन्य शिक्षकों की सहायता से ग्रामीणों को बुलाकर पंचायत बुलाई गई ।तब जाके ग्रामीणों ने बड़ी मुश्किल से झगड़े को शांत कराया ।
वहीं पंचायत में दोनों शिक्षक एक दूसरे के बारे में खरा खोटा कहते नजर आए ।


राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कुरका में शिक्षकों में आपसी गुटबाजी के चलते ग्रामीणों ने स्कूल गेट पर ताला लगाकर दोषी शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। कार्यवाहक प्रधानाचार्य ने ग्रामीणों को समझाकर ताला खुलवा दिया। ग्रामीणों ने बताया कि राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कुरका के कुछ शिक्षकों में आपसी गुटबाजी चल रही है। 
पढ़े -: भरतपुर जिले में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र वैर आया प्रथम

जिसमें एक शिक्षक परेशान किया जा रहा है। बुधवार को स्कूल की छुट्टी के बाद गुटबाजी के चलते रास्ते में  शिक्षकों ने एक शिक्षक  के साथ हाथापाई कर दी। गुरूवार को दूसरे शिक्षक ने ग्रामीणों को पूरी घटना के बारे में अवगत कराया। जिस पर काफी संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो गए और दोषी शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई करवाने का निर्णय लिया। ग्रामीणों का कहना था कि शिक्षकों की गुटबाजी के चलते स्कूल में पढाई का माहौल प्रभावित हो रहा है। कुछ शिक्षकों द्वारा अच्छी पढाई करवाने वाले शिक्षकों को प्रताड़ित कर स्कूल का माहौल खराब हो रहा है। कार्यवाहक प्रधानाचार्य मोहनलाल उपाध्याय ने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया

No comments:

Post a Comment