मानव सेवा ही प्रभु पाने का है उचित मार्ग - News Desktops

Breaking

Friday, December 14, 2018

मानव सेवा ही प्रभु पाने का है उचित मार्ग


भुसावर- गाॅव पथैना में पटैला कुआ के सामने चल रहे सप्त दिवसीय गीता विज्ञान अध्यात्म प्रवचन कार्यक्रम में कथा वाचक शिवांशु महाराज ने उपस्थित भक्तों को गीता की महत्वता बताते हुए मानव जीवन के बारे में विस्तार से जानकारी दी और कहा कि मानव जीवन 84 लाख योनियों में घूमने के बाद मिलता है जिसे आज मानव बुरे कामों में फॅसकर नष्ट कर रहा है। मनुष्य को अपने जीवन में अच्छे कर्मो के रास्ते पर चलते हुए मानव सेवा करते हुए भगवान की भक्ति में लीन रहना चाहिए। कार्यक्रम का समापन 16 दिसम्बर को होगा। वहीं दूसरी ओर गाॅव सलैमपुर खुर्द के कुट्टीन वाले हनुमान मन्दिर पर श्रीमद् भागवत कथा के लिए महिलाओं द्वारा बैण्ड बाजों के साथ कलश यात्रा निकाली गई जिसमें उपस्थित महिलाएं मंगल गीत गाते हुए नृत्य कर ठाकुर जी के समक्ष हाजरी लगाती चल रही थीं। वहीं गाॅव में कलश यात्रा का ग्रामीणों द्वारा पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया।

No comments:

Post a Comment