वैर- कांग्रेस बताये की सेनापति कौन:-शिवराज सिंह चौहान - News Desktops

Breaking

Sunday, December 2, 2018

वैर- कांग्रेस बताये की सेनापति कौन:-शिवराज सिंह चौहान



वैर। (प्रेम सिंह सैनी) मध्ययप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार केो


भाजपा प्रत्याशी रामस्वरूप कोली के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित करने वैर पहुचे। जहां उन्होने कांग्रेस सरकार को  आडे हाथो लेते हुये कहा कि कांग्रेस बताये कि सेना पति कौन है। कांग्रेस ने अभी तक मुख्यमंत्री के लिये नाम घोषित नही किया है। वो बिना दूल्हे की बारात है।


कांग्रेसी  ऐसी बारात में नाच रहे है। जिसके दूल्हे का ही पता नही है। कांग्रेस के राष्टीय अध्यक्ष राहुल पर तंज कसते हुये कहा कि पहले यह तो बताओ मुख्यमंत्री किसको बनाओगे । अगर राजस्थान में कांग्रेस की कोई बैठक हो उसमें सचिन पायलेट हो और अशोक गहलोत हो  यदि उसमें कोई पीछे से कह दे कि मुख्यमंत्री जी तो दोनो उठकर नमस्कार करते है। यह विचार भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी रामस्वरूप कोली के समर्थन में नगर पालिका परिसर में आयोजित आम सभा को संबोधित करते हुये कहे।


पुूर्व  प्रधानमंत्री   मनमोहन सिंह को भी नही बख्शा........
 भारत के   पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को लेकर
कहा कि वो मौनी बाबा थे। दुनिया में कही जाते थे तब पता ही नही चलता था कि प्रधानमंत्री आया है। लेकिन नरेन्द्र मोदी कही भी जाते है तो भारत माता की जयकारे लगते है। और मोदी मोदी के नारे लगते है।

घोटाले पर  घोटाले .........

कांग्रेस के घोटालो पर बोलते हुये कहा कि उन्होने टूजी घोटाला,थ्री जी घोटाला ,फोरजी घोटाला और जीजाजी घोटाला कांग्रेस ने अभी तक यही किया है। उन्होने कहा कि राहुल गांधी जब तक  मोदी का सौ बार  नाम नही ले लेते तब तक उन्हे नीद नही आती । हम अपनी सभाओं में भारत माता की जय बोलते है। जबकि कांग्रेस में सोनिया गांधी की जय बोली जाती है।



जम्मू कश्मीर की समस्या कांग्रेस की देन...........................
शिवराज चौहान ने  जम्मू कश्मीर की समस्या कांग्रेस की देन बताया।उन्होने कहा कि जिस समय भारत स्वतंत्र हुआ । उस समय जम्मू कश्मीर का मामला नेहरू के हाथ में था। यदि यह मामला सरदार बल्लभभाई पटेल के हाथ में होता तो आज पूरा जम्मू कश्मीर भारत के कब्जे में होता ।  नेहरू ने युद्ध कराया तब एक बटा तीन हिस्सा पाक में चला गया।
फिल्मी गीत की तर्ज पर बताया कुर्सी का लालची....................
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कांग्रेस को कुर्सी का लालची बताया । उन्होने बताया कि साथी रे कुर्सी के बिना भी क्या जीना ,जिस पर जनसमूह  ने तालियां बजाई। भारत के विभाजन का जिम्मेदार भी कांग्रेस बताया।  कांग्रेस को देश के स्वाभिमान से कोई लेना देना नही है। उन्हे सत्ता चाहिये। ऐ कुर्सी तेरे बिना भी क्या जीना ,फूलों में कलियों में ,सपनो की गलियो में तेरे बिना भी क्या जीना की पंक्तियां गाकर जनसमूह को हंसने पर मजबूर कर दिया।

गदा व स्मृति चिहन किये भेंट ...........................
शिवराज सिंह चौहान जनसभा को संबोधित करने का समय आयोजको ने साढे दस बजे का निर्धारित किया था। लेकिन वे एक बजे सभा स्थल पर पहुचे । तब तक लोग उनका इंतजार करते रहे। हैलीपैड पर उनका भाजपा प्रत्याशी  व कार्यकर्ताओं ने फूल मालाओ से स्वागत किया। सभा स्थल पर चौहान का चांदी का मुकट पहना कर व गदा भेंट कर तथा बाबा मनोहर दास का चित्र स्मृति चिहन के रूप में भेट किया।

सरकारी कॉलेज की उठी मांग.......................
जनसभा संपन्न होते ही मुख्यमंत्री शिवराज चौहान मंच से जैसे ही हटे । जनसमूह में बैठे युवाओ की ओर से वैर में सरकारी कॉलेज खोलने की मांग उठी। युवाओ द्धारा काफी जोर से वैर में सरकारी कॉलेज की मांग काफी जोर से की गई। लेकिन ना तो एमपी के सीएम शिवराज चौहान व भाजपा प्रतिनिधियों ने कोई ध्यान नही दिया। जिससे युवा मायूस नजर आये। 

No comments:

Post a Comment