बयाना-बीस दिन बाद हड़ताल खत्म होने से फिर चले रोडवेज के चक्के, लौटी रौनक - News Desktops

Breaking

Monday, October 8, 2018

बयाना-बीस दिन बाद हड़ताल खत्म होने से फिर चले रोडवेज के चक्के, लौटी रौनक



बयाना। विभिन्न मांगों को लेकर 20 दिनों से चल रही रोडवेजकर्मियों की हड़ताल चुनाव आचार संहिता लगने के साथ ही टूट गई। आचार संहिता लगने के बाद अब मांगों को पूरा नहीं होते देख रोडवेजकर्मियों ने काम पर लौटने का फैसला लिया। इसके साथ ही 20 दिनों बाद रोडवेज बस दुबारा चलना शुरू हो गई। रोडवेज बस स्टैंडों पर पसरा सन्नाटा भी टूट गया। बस स्टैंड पर रोडवेजकर्मियों सहित सवारियों, दुकानदारों, रिक्शा, टैंपो आदि की भीड़भाड़ से रौनक लौट आई। हालांकि मांगे नहीं माने जाने से रोडवेजकर्मी मायूस है तथा सुनवाई नहीं करने से सरकार के प्रति नाराजगी भी जता रहे हैं। रविवार सुबह बस स्टैंड पर एक बार फिर रोडवेज बस स्टैंड पर बसों के हॉर्न सहित बसों के आने-जाने को लेकर लाउडस्पीकर पर होने वाले अनाउंसमेंट की आवाज गूंज उठी। इससे यात्रियों को राहत मिली है। बसों के चालक-परिचालक पिछले बीस दिनों से खड़ी बसों की साफ-सफाई सहित उनके मैंटेनेंस को लेकर निरीक्षण करते दिखे। वहीं सफाईकर्मी भी स्टैंड परिसर में व्याप्त गंदगी को दूर करने में जुटे रहे। बस स्टैंड में पहले की तरह परिचालक परिसर में आने वाली सवारियों से उनके गंतव्य के बारे में पूछताछ कर बसों में बैठने की हिदायत देते दिखे। स्थानीय बस स्टैंड के रोडवेजकर्मी उदयभानसिंह गुर्जर, ओमवीर सिंह आदि ने बताया कि लगातार 20 दिनों तक वाजिब मांगों को लेकर संघर्ष करने के बावजूद सरकार ने अनदेखी कर एक बहुत बड़े वर्ग को नाराज कर दिया है।


फ़ोटो:- बस  स्टैंड पर चालू हुई बस

रिपोर्ट:- संदीप कसाना संबाददाता बयाना

No comments:

Post a Comment