वैर-मारपीट में घायल हुए युवक की मौत, परिजनों का 3 घंटे अस्पताल में हंगामा - News Desktops

Breaking

Friday, October 5, 2018

वैर-मारपीट में घायल हुए युवक की मौत, परिजनों का 3 घंटे अस्पताल में हंगामा





वैर। थाना क्षेत्र के गांव त्यौहारी निवासी दलित युवक 27 वर्षीय संजय पुत्र ओमीलाल बाल्मीकि की डेढ़ माह पूर्व हुई मारपीट की घटना में आई चोटों के बाद शुक्रवार को तबियत अधिक बिगड़ जाने से मौत हो गई। युवक की मौत से गुस्साए परिजनों और रिश्तेदारों ने शुक्रवार की दोपहर राजकीय अस्पताल में प्रदर्शन करते हुए मारपीट के मामले में हत्या की धारा जोडऩे और आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की।

परिजनों ने मांग पूरी नहीं होने तक मृतक युवक का पोस्टमार्टम कराने व शव को उठाने से इनकार कर दिया। हंगामे की सूचना पर बयाना डीएसपी चेतराम सेवदा, भुसावर डीएसपी महेन्द्र शर्मा, बयाना एसएचओ खलील अहमद और वैर एसएचओ होशियार सिंह पुलिस बल के साथ अस्पताल पहुंचे। अधिकारियों के करीब ढाई घंटों की समझाइश के बाद परिजन और रिश्तेदार अंतिम क्रियाकर्म के लिए शव को ले जाने के लिए राजी हुए। परिजनों ने वैर पुलिस पर मारपीट के पूर्व में दर्ज मामले में आरोपियों से मिलीभगत कर अब तक कोई कार्रवाई नहीं करने के आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की। दोपहर को जब परिजन एम्बुलेंस से शव को ले जा रहे थे तभी पीडि़त पक्ष के कुछ लोग मौके पर पहुंचे तथा एम्बुलेंस को रोक लिया तथा आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने तक शव को सड़क पर रखकर जाम लगाने की चेतावनी दी। इससे एक बार फिर मामला गर्मा गया था तथा पुलिस अधिकारियों ने मामले में निष्पक्ष कार्रवाई व आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन देकर हंगामा समाप्त कराया। इसके बाद परिजन शव को अंतिम संस्कार के लिए गांव ले गए।
जमीनी विवाद के चलते किया हमला

मृतक के चाचा रमेश बाल्मीकि और वैर पुलिस ने बताया कि गत 27 अगस्त को जमीनी विवाद के चलते त्यौहारी गांव में संजय बाल्मीकि के घर गांव के ही कुछ दबंगों ने लाठी-डंडों से लैस होकर हमला बोल दिया। घर में मौजूद संजय व उसके परिजनों से दबंगों ने जातिसूचक गाली गलौज करते हुए जमकर मारपीट की। मारपीट में संजय बुरी तरह से घायल हो गया था। जिसे उस समय भरतपुर के आरबीएम में भर्ती कराया था। जहां से उसे जयपुर रैफर कर दिया गया। घायल संजय को कुछ दिन पूर्व ही जयपुर अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था। घर पर भी संजय का उपचार चल रहा था। शुक्रवार सुबह तबियत बिगड़ने पर परिजन संजय को बयाना के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पाकर गांव से परिजन और आसपास के इलाकों सहित दिल्ली से रिश्तेदार अस्पताल पहुंच गए तथा हंगामा शुरू कर दिया। परिजनों और रिश्तेदारों ने मारपीट के दर्ज मामले में हत्या की धारा जोड़ने, मुआवजा दिलाने सहित आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी करने की मांग की।


रिपोर्ट:- संदीप कसाना संबाददाता

लोकेशन :- बयाना/ उच्चैन

टीम आपनों भरतपुर की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment